Type something and hit enter

On
Pitra Paksha (Shraddh)

27 Sep 2015 to 12 Oct 2015


श्राद्ध मे ब्राह्मण

समस्त लक्षणोंसे सम्पन्न, विद्या, शील एवं सदगुणों से सम्पन्न तथा तीन पीढियों से विख्यात ब्राह्मणों के द्वारा श्राद्ध सम्पन्न करे।

श्राद्ध मे वर्जित ब्राह्मण

लंगडा, काना, अंड्ग हीन एवम अधिक अंड्ग वाला ब्राह्मण श्राद्ध में निषिद्ध है ।

देवकार्य, पूजा-पाठ, आदिमें ब्राह्मणोकी परीक्षा न करे, किन्तु पितृ कार्य में अवश्य करे ।

श्राद्ध मे अन्न

मनुष्य जिस अन्न को स्वयं भोजन करता है, उसी अन्न से पितर और देवता भी तृप्त होते हैं । पकाया हुआ अथवा बिना पकाया हुआ अन्न प्रदान करके पुत्र अपने पितरोंको तृप्त करे ।