Type something and hit enter

Facebook Like Lightbox


खग्रास चंद्रग्रहण 
Chandra Grahan - Total Lunar Eclipse: Wed, 31 January 2018

यह चन्द्रग्रहण माघ पूर्णिमा को शाम 5.18 से रात्रि 8.42 तक को सम्पुर्ण भारत में खग्रास (Total Lunar Eclipse) रूप में दिखाई देगा |

ग्रहण का सूतक 31 January 2018 को प्रात: 08 .18 AM (IST) पर प्रारम्भ हो जायेगा |

यह खग्रास चंद्रग्रहण 31 January 2018 की शाम 5.18 PM से प्रारम्भ हो कर 8.42 PM (IST) पर समाप्त (मोक्ष) होगा |

भारत के सभी नगरो में इसका प्रारम्भ 17:18 HRS , मध्य 18:59 HRS और मोक्ष 20:42 HRS रूप देखा जा सकेगा |

भारत के अलावा यह ग्रहण उत्तरी अमेरीका, उत्तरी-पूर्वी दक्षिणी अमेरीका में चन्द्र अस्त के साथ ग्रहण समाप्त हो जाएगा अर्थात ग्रस्तास्त रूप में दिखाई देगा । जबकि उत्तरी पूर्वी यूरोप, एशिया, हिन्द महासागर में चन्द्रोदय के समय यह खग्रास ग्रहण प्रारम्भ होगा अर्थात ग्रस्तोदय रुप में दिखाई देगा ।

अॉस्ट्रेलिया तथा न्यूजीलैण्ड में यह खग्रास चंद्रग्रहण प्रारंभ से समाप्ति काल तक पूर्ण रुप में दृश्य होगा ।

 खग्रास चंद्रग्रहण परमग्रास समय 18.59 
ग्रहण समाप्ति : 20.42 
ग्रहण शुद्धि : 21.38  (IST)

चन्द्र ग्रहण फल :
वैदिक ज्योतिष के अनुसार यह चन्द्रग्रहण पुष्य तथा आश्लेषा नक्षत्र और कर्क राशि पर घटित हो रहा है इसलिए इन नक्षत्रों तथा राशि वाले जातकों को ग्रहण का फल विशेष रुप से अशुभ तथा कष्टकारी हो सकता है। चूंकि प्रत्येक राशि पर ग्रहण का प्रभाव भिन्न-भिन्न होता है, इसलिए कुछ राशि वालों के लिए यह ग्रहण कष्टकारी हो सकता है, तो कुछ राशि के लोगों के लिए कल्याणकारी भी हो सकता है।

मेष राशि के जातकों के लिए यह ग्रहण लाभ दिलाने वाला तथा कार्यों को सिद्ध करने वाला हो सकता है ।

वृष राशि के जातकों के लिए यह ग्रहण आजीविका से जुड़े क्षेत्रों में सफलता देगा । अचानक आर्थिक लाभ के योग हैं। मित्रों, रिश्तेदारों और क़रीबी लोगों के साथ सुनहरे पल व्यतीत करने का अवसर मिलेगा।

मिथुन राशि के जातकों के लिए यह ग्रहण धन हानि कराने वाला हो सकता है. जातक यात्राएँ भी कर सकता है ।

कर्क राशि के जातक स्वास्थ्य का विशेष ख़्याल रखें। शारीरिक कष्ट, गुप्त रोग और मानसिक तनाव जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इस अवधि में वाहन सावधानी से चलाएं।

सिंह राशि के लिए यह ग्रहण धन हानि देने वाला हो सकता है और अन्य कुछ चिन्ताएँ भी व्यक्ति को घेरे रह सकती हैं ।

कन्या राशि के जातकों के लिए यह ग्रहण साहस और परामक्रम में वृद्धि देगा । छोटी दूरी की यात्रा योग में है। परिजनों के साथ अच्छा समय व्यतीत होगा। भौतिक सुखों का आनंद मिलेगा।

तुला राशि के लोगों के लिए यह ग्रहण स्वास्थ्य संबंधी विकार उत्पन्न करने वाला हो सकता है । किसी भी प्रकार से कष्ट या किसी से भय उत्पन्न हो सकता है। संघर्ष भी सामने आ सकते हैं जिनसे सावधानी से निपटना चाहिए।

वृश्चिक राशि के जातकों को यह ग्रहण मानसिक तनाव दे सकता है। प्रेम संबंधों में बाधाएँ आ सकती हैं। बेवजह के विवादों से बचें। छात्रों को चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है।

धनु राशि के व्यक्तियों के लिए यह ग्रहण साधारण सा लाभ देने वाला कहा जा सकता है लेकिन साथ ही खर्चे भी बरकरार रह सकते हैं । प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष शत्रुओं से भय बना रह सकता है।

मकर राशि के जातकों के लिए यह ग्रहण जीवनसाथी के साथ मतभेद करा सकता है । वहीं बिजनेस पार्टनर के साथ भी मतभेद गहरा सकते हैं।

कुंभ राशि के व्यक्तियों के लिए यह ग्रहण रोगादि उत्पन्न करने वाला हो सकता है। गुप्त चिन्ताएँ बनी रह सकती है और जीवन में कुछ संघर्षों से भी सामना हो सकता है।

मीन राशि के जातकों को सफलता पाने के लिए संघर्ष करना होगा। आमदनी की तुलना में ख़र्च बढ़ सकता है। कार्य भी विलंब से होंगे।

Click to comment